Home शहर नाला साफाई टेंडर में झोल की पोल (भाग2)आशापुरा ,एम बी ब्रदर्स क्या...

नाला साफाई टेंडर में झोल की पोल (भाग2)आशापुरा ,एम बी ब्रदर्स क्या एक ही है ?टेंडर में क्या अधिकारी से लेकर नगरसेवक की पाटर्नशिप है ?

मीरा भाईंदर(सिटी न्यूज़ मुंबई) मनपा के एक अधिकारी बरसो से एक ही पोस्ट व विभाग में डटे हुए है उन्हें सवस्स्थ विभाग के अलावा अन्य कोई विभाग पसंद नही आता है।सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार उक्त अधिकारी के मीरा भाईंदर में ठेकेदारों के साथ सांठगांठ ही नही बल्कि पाटर्नशिप भी है।
स्वास्थ विभाग की ओर से हर वर्ष नाला साफ साफाई का ठेका नारायण सिंग की कंपनी को ही मिलता आया है।पिछले वर्ष इस टेंडर पर जिस तरह से हंगामा ,शिकायतों का अंबार लगा था और शहर डूबा था उसपर से इस बार आशापूरा को ठेका मिलना मुश्किल था
इस वर्ष नए आयूक्त चन्द्रकांत डांगे (आय एस आई) की नजर से बच नही पाते जिस के चलते एक सोची समझी साजिश के तहत अपने खास पाटर्नर को ही ठेका मिले इस के लिए उक्त अधिकारी ने अलग नाम से इस वर्ष ठेका दिया गया और आशापुरा कंपनी की टेंडर ऊंचे दामो में भरा गया ताकि सेकंड वाले व्यक्ति को मिले और इस वर्ष दिखावे के लिए टेंडर प्रक्रिया से बाहर हो जाये और आशापुरा कंपनी जोकि पिछले वर्ष बदनाम हुई थी ।दुबारा उसे ही टेंडर दिए जाने से मामला आयूक्त के संज्ञान में आ जाता इस लिए इस बार अलग नाम से टेंडर दिया गया है।जिस से मनपा आयूक्त के कानों को भनक तक नही लग पाई है।
सूत्रों की माने तो नाले साफाई कंपनी में एक नगरसेवक व अधिकारी पाटर्नर है ऐसी चर्चा मनपा में दबी जबान में है।
आम जनता की नाला साफ साफाई को लेकर जब भी कोई शिकायत जाती है उसे कचरे की टोकरी दिखाई जाती है।
इस बार स्वछ छवि के आय ए एस अधिकारी आने के कारण आशापूरा कंपनी को टेंडर सिंडिकेट ने जान बूझकर दूर रखा है। लेकिन जो लाभ देना है अलग राह से दिया गया है।
करीब तीन से पौने तीन करोड़ो रुपये हर वर्ष नाले साफाई के नाम पर डकारने वाले ठेकदार व अधिकारी सियासी नेताओ को शहर डूबे या बचे इस बात से कोई फर्क नही पड़ता है। लेकिन मनपा प्रशासन को अलग से जगह जगह पानी निकलने के लिए पम्प,जेसीबी,पाइप,ख़ुदाई ,पानी निकालने के लिए आदमी लगाने पड़ते है जोकि उक्त ठेकेदार को ठेका दिया जाता है ।अखबारों में मनपा प्रशासन के से बदनामी का ठीकरा फोड़ा जाता है।
कल के अंक में।पढ़िए मनपा गोषवारा में क्या है (क्रमश)

1 COMMENT

  1. कामगारों की पगार और मशीनों के भाडे पर ध्यान केंद्रित कीजिए!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

36 में से 10 नए पोजिटिव्ह झोपड़पट्टी ने बिगाड़ा समीकरण

मीरा भाईंदर (सिटी न्यूज़ मुंबई) मीरा भाईंदर में आज फिर से 36 पेशेन्ट मिलने से मीरा भाईंमनपा के कोरोना जंग का का...

12 विधायको का अगले सप्ताह कार्यकाल समाप्त, इच्छुको ने लागना शुरु की फील्डिंग

मुंबई (सिटी न्यूज़ मुंबई) अगले सप्ताह महारास्ट्र विधान परिषद के 12 सदस्य कार्यकाल समाप्त होने वाला है जोकि राज्यपाल नाम नियुक्त थे।...

१५५ पुलिस अधिकारी,९४० पुलिस कर्मी कोरोणा ग्रस्त ७०० कवारेटाइन 

मुंबई (सिटी न्यूज़ मुंबई) राज्य में कोरोना संकट से आम जनता को रोकने वाली पुलिस ही अब बड़े पैमाने पर खुद ही...

कोविड19 ,ठाने,मीरा भाईंदर के लिए iAS अधिकारी 15 करोड़ रु मीरा भाईंदर के लिए MMRDA की तरह अस्पताल बनाये- प्रताप सरनाईक

मुंबई(सिटी न्यूज़ मुंबई) मुम्बई में हर ज़ोन में जिस तरह से मदद करने के लिए IAS अधिकारी दिए गए हैं उसी तरह...

Recent Comments