सरकार तुरंत आकाल घोषित कर के किसानो की आर्थिक मदद करते हुए नियोजन करे- अजित पवार

मुंबई(सिटी न्यूज़ मुंबई) कल पत्रकार परिषद एनसीपी के कदावर नेता अजित पवार ने राज्य में पड़े भीषण आकाल पर राज्य सरकार को जमकर लताड़ लागते हुए कहा की मुख्यमंत्री जिस तरह से एक दिन में २ जिलो में निजी प्लेन से बैठक ले रहे है उसी निजी प्लेन से केंद्र सरकार की टीम का दौरा राज्य में करवाकर किसानो को तुरंत आर्थिक मदद दिलवाए इस बार का आकाल  सन  १९७२ से भीषण आकाल (सुखा) पडा है सरकार आंकड़ो की जगलरी में जुटी हुई है.उन्होंने कहा की राज्य सरकार के जलयुक्त शिवार योजना पूरी तरह से विफल हो गयी है हमने पहले कहा था की जमीन के अलग अलग जमीन की स्तेह होने के कारण यह योजना सफल नही सकती है.राज्य में सुखा पड़ा है आने वाले महीनों में काफी जबर्दस्त दिक्कत होने वाली है.आकाल का समाना पिने के पानी से लेकर किसानो को करना पड़ेंगा अप्रेल में सब सेज्यादा समाना करना होंगा राज्य सरकार को हमने पहले ही लिखित पत्र के माध्यम से सूचित किया था की इस तरह से होने वाला सरकार तुरंत आकाल घोषित कर के केंद्र सरकार से आर्थिक मदद लेकर उपाय योजना करे लेकिन सरकार की बेफिक्री के चलते अकाल की तीव्रता बढ़ रही है.

जलयुक्त शिवार योजना के सन्दर्भ में विस्तार से बताते हुए अजित पवार ने कहा की साढ़े साथ हजार करोड़ रूपये खर्च करने के बाद भी इस का लाभ नही हुआ है अब जल युक्त शिवार योजना का नाम लेते ही मुख्यंमत्री की भवे चढ़ जाती है.पहले इस पर उन्हें ख़ुशी हुआ करती है विपलता के चलते अब चिढने लगते है.उन्होंने मांग की सरकार किसानो को तुरंत आर्थिक मदद करे.

विधान परिषद के नेता धनजय मूंदे ने भी सरकार को आढे हाथ लेते हु हमला किया मुख्यमंत्री के आकल पर भूमिका पर जमकर बरसे,पत्रकार परिषद में प्रवक्ता नवाब मलिक,तटकरे’सचिन आहिर मौजूद थे.

केंद्र सरकार व राज्य सरकार भाजपा की है उन्हें आर्थिक मदद देने में  अकाल घोषित कर मदद देने में क्या दिक्कत है ऐसा सवाल किया गया.

अजित पवार ने शिव स्मार्क के दौर में परसों एक व्यक्ति की मौत डूबने से हुई उस पर कहा की जब प्रधान मंत्री ने उधघाटन क्र दिया तो दुबारा वहा पर जाने की क्या आवश्यकता है जिस कंपनी को कार्य दिया गया है उसी के कर्मचारियों को कार्य शुरू करना चाहिए ऐसा उन्होंने कहा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here