विद्यार्थियों को टी-शर्ट, कैप वितरण तथा नाश्ते के लिए कार्यक्रम स्थल पर कार्यक्रम से पहले बुलाया   मुख्यमंत्री की ओर से देर तक इंतजार करवाने का सवाल ही नहीं

 मुंबई : राज्य में १३ करोड़ वृक्ष लगाने का शुभारंभ १ जुलाई २०१८ रोजी ग्राम वरप, तहसील कल्याण,जिला ठाणे में मुख्यमंत्री और अन्य मान्यवरों की उपस्थिति में हुआ. इस कार्यक्रम के लिए विद्यार्थी बड़ी संख्या में वृक्षारोपण के लिए आए थे. कार्यक्रम के शुभारंभ से पहले इन सभी विद्यार्थियों को वन विभाग के मार्फत वृक्षारोपण के संदेश युक्त टी शर्ट, कैप तथा नाश्ते का वितरण करना था. इसलिए विद्यार्थियों को उद्घाटन के पहले  कार्यक्रमस्थल पर लाया गया था. कार्यक्रम के स्थल पर उपस्थित रहनेवाले विद्यार्थियों और नागरिकों के लिए वॉटरप्रुफ मंडप खड़ा किया था तथा कुर्सियों की व्यवस्था भी की गई थी. जिस जगह पर वृक्षारोपण करना था , वहां पौधे रखे गए थे. इसलिए विद्यार्थियों को हाथ में पौधें देकर तीन घंटे इंतजार करने की बात में कोई तथ्य नहीं है.

            कल कुछ समाचारपत्रों में राज्यस्तरीय वृक्षारोपण शुभारंभ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा विद्यार्थियों को तीन घंटों तक इंतजार करवाना पड़ा, इस कार्यक्रम में प्लास्टिक का उपयोग किया गया,ऐसी खबरे प्रकाशित हुई थी. इस बारे में खुलासा करते हुए वनविभाग ने बताया है कि, कार्यक्रम में वनविभाग ने जो पुरस्कार वितरित किए है, उसमें सम्मानचिन्ह का समावेश था. इसके लिए ज्यूट की थैली उपयोग में लाई थी. विभाग की ओर से कार्यक्रम स्थल सौंदर्यीकरण के लिए तथा भेटवस्तू देने के लिए किसी भी प्रकार के प्लास्टिक और थर्माकोल का उपयोग नहीं किया है.

            इस कार्यक्रम के आयोजन का काम वन विभाग मार्फत ई ‍निविदा कार्यप्रणाली का अवलंब कर ठेकेदार के मार्फत किया था. ठेकेदार को काम देते समय कार्यारंभ आदेश में जो नियम और शर्ते दी थी,उसमें प्लास्टिक की चीजें उपयोग न करने की स्पष्ट सूचनाएं दी थी.

ठेकेदार पर कार्रवाई करने की वनमंत्री ने दी सूचना

तथापि ठेकेदार की ओर से नाश्ते के साथ प्री पैकेज्ड वॉटर कप का उपयोग किए जाने की बात सामने आई है. इस संदर्भ में वनमंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने संबंधित व्यवस्थापन करनेवाली यंत्रणा के खिलाफ नियम के अनुसार कार्रवाई करने के निर्देश दिए है. यह काम करनेवाली कंनपी के खिलाफ महाराष्ट्र प्लास्टिक एवं थर्माकोल अविघटनशील वस्तुएं (उत्पादन, उपयोग, बिक्री, यातायात, स्टोरेज) अधिसूचना २०१८ और महाराष्ट्र अविघटनशील कचरा (नियंत्रण) कानून २००६  के अनुसार दंडात्मक कार्रवाई की गई है. कार्यक्रम स्थल पर पाए गए सभी प्लास्टिक की वस्तुएं इकट्ठा की गई है. उसे प्राधिकृत पुनर्चक्रण करनेवाली घटकों को दिए जाने की जानकारी भी किए गए खुलासे में दी गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here