मिरारोड़-(सिटी न्यूज़ मुंबई)- दारू के नशे की लत ने शनिवार की रात एक युवक को मौत के घाट उतार दिया| नशे में मदमस्त तीन दोस्त इतने बौखला गए की उन्हें होश ही नहीं रहा की जिसके साथ वे दारू पी रहे थे वे एकदूसरे पर जान छिडकने वाले दोस्त है| पुलिस ने हत्या के आरोपी को गिरफ्तार कर १५ फरवरी तक पुलिस हिरासत हासिल कर ली है जबकि इसी हत्या का एक पीड़ित अस्पताल में भर्ती है जो खबर लिखे जाने तक होश में नही आया था
इस सन्दर्भ में भाईंदर के नवघर पुलिस ठाणे इंचार्ज भालसिंग ने सिटी न्यूज़ से अधिक जानकारी देते हुए बताया की शनिवार की रात चार दोस्त अच्युतम चौबे, विवेक सिंह, संदीप गवस और अरुण भाईंदर के बालाजी इंडस्ट्रीयल इलाके में देर रात दारू पिते बैठे थे| चारो भी दारु के नशे में इतने मग्न होगये की उन्हें होश नही रहा की वे क्या बोल रहे है और क्या कर रहे है| अरुण उर्फ़ रोकी किस्मत वाला निकला की वो जल्द ही अपने घर मोटरसाईकल से चला गया| अरुण के जाने के बाद तीनो दोस्तों में शराब में पानी की कमी होने के चलते बहस होगयी| बहस ने तो पहले गाली गलोच का रूप धारण किया फिर बात हाथापाई और आखिर में एक दुसरे पर डंडे और लकड़ी से जानलेवा की नौबत आगयी तब विवेक, संदीप और अच्युतम तीनो में आपस में घमसान हुआ और संदीप गवस ने पास पड़ी लकड़ी के डंडे से अच्युतम के सर पर जोरदार हमला किया| सर पर गंभीर चोट आने के कारण अच्युतम की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी| जबकि विवेक पर भी गम्भीर चोट आई है वो उसका अस्पताल में इलाज चल रहा है| मामले की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस ने संदीप गवस और अरुण को हिरासत में लिया| चूँकि अरुण वारदात से पहले ही घर निकल चूका था इसलिए पुलिस ने उसे घटनाक्रम का गवाह बना लिया है| और संदीप गवस से लोकल क्राइम ब्रांच, डिटेक्शन ब्रांच और भाईंदर के सहायक पुलिस उपअधीक्षक प्रशांत कुलकर्णी अलग अलग एंगल से सवालों को बौछार कर दी तब संदीप गवस ने अपना जुर्म कबुल करते हुए बताया की उसी ने अच्युतम चौबे और विवेक सिंग को लकड़ी के डंडे से मारा है|
गुनाह की कबुली के बाद पुलिस ने रविवार की शाम संदीप गवस को हिरासत में लेकर उसे धारा ३०२ के अनुसार गिरफ्तार कर सोमवार ठाणे न्यायलय में पेश किया जहा न्यायालय ने संदीप को १५ तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है और पुलिस इस मामले की और तहकीकात में जुट गयी है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here